झूलन गोस्वामी ने विश्वकप में नया रिकॉर्ड बनाकर रचा एक और इतिहास

झूलन गोस्वामी ने विश्वकप में नया रिकॉर्ड बनाकर रचा एक और इतिहास

भारत की बेहतरीन खिलाड़ी स्मृति मंधाना और हरमनप्रीत कौर के शतक से वेस्टइंडीज को 155 रन से हराकर अपना अभियान दोबारा पटरी पर लाया। इसमें झूलन को विकेट तो एक ही मिला, लेकिन उन्होंने इतिहास रच दिया। 
भारत की उम्दा तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी ने शनिवार को अपने 22 साल के करियर में एक और उपलब्धि हासिल की जब वह यहां आईसीसी महिला क्रिकेट विश्व कप के इतिहास की सबसे सफल गेंदबाज बन गयीं। झूलन ने 40 विकेट के साथ ऑस्ट्रेलिया की लेनेट फुलस्टन को पीछे छोड़ा जिन्होंने 1982 से 1988 के बीच छह साल के अपने करियर के दौरान विश्व कप में 39 विकेट चटकाए। झूलन ने वेस्टइंडीज की पारी के 36वें ओवर में अनीसा मोहम्मद को आउट करके यह उपलब्धि हासिल की। वेस्टइंडीज की टीम भारत के 318 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए 162 रन पर सिमट गई। 
विश्व कप की सबसे सफल गेंदबाजों की सूची में अब झूलन शीर्ष पर हैं जबकि उनके बाद फुलस्टन, इंग्लैंड की कैरोल हॉजेस (37 विकेट) और क्लेयर टेलर (36) तथा आस्ट्रेलिया की कैथरीन फिट्जपैट्रिक (33) का नंबर आता है। भारत की 39 साल की दाएं हाथ की तेज गेंदबाज झूलन 2005 से अपना पांचवां महिला क्रिकेट विश्व कप खेल रही हैं।