वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण Google, Facebook जैसी डिजिटल कंपनियों पर टैक्स लगाने की तैयारी में

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण Google, Facebook जैसी डिजिटल कंपनियों पर टैक्स लगाने की तैयारी में

नई दिल्ली.  8-9 जून को जापान में होने वाली G20 समिट में गूगल, फेसबुक, नेटफ्लिक्स जैसी डिजिटल कंपनियों निर्मला सीतारमण इन कंपनियों पर टैक्स लगाने का प्रस्ताव पेश करेंगी। वित्त मंत्री के तौर पर यह सीतारमण की पहली अंतरराष्ट्रीय बैठक होगी, जिसमें वे भारत के प्रस्ताव के लिए समर्थन जुटाने की कोशिश करेंगी।

Business Standard में छपी खबर के मुताबिक इंटरनेट कंपनियां कम टैक्स वाले न्याय क्षेत्रों से ऑपरेट करती हैं, लेकिन कई अन्य जगहों में भी उनका व्यापार फैला रहता है। वहां वे मौजूद हुए बिना कराेड़ों रुपए कमाती हैं और टैक्स बचाती हैं। भारत का मानना है कि इन इंटरनेट कंपनियों के यूजर्स जिन देशों में है, वहां के न्यायक्षेत्र के हिसाब से इन कंपनियों पर टैक्स लगाया जाना चाहिए।

जून, 2016 में भारत ने देश में विज्ञापनों से कमाई करने वाली विदेशी डिजिटल कंपनियों पर 6 फीसदी टैक्स लगाया था। 2018-19 में सरकार ने इस टैक्स से 1000 करोड़ रुपए से भी ज्यादा की कमाई की। ठीक ऐसे ही इटली ने भी डिजिटल सर्विसेज पर 3 फीसदी टैक्स लगाया था। फ्रांस ने भी डिजिटल कंपनियों को ऐड से होने वाली कमाई पर 3 फीसदी टैक्स लगाने का प्रस्ताव पेश किया है।

ऐसा माना जा रहा है कि इस बैठक में अमेरिका भारत के विपरीत प्रस्ताव रखेगा। अमेरिका का प्रस्ताव है कि इंटरनेट कंपनियों को सिर्फ नॉन-रुटीन प्रॉफिट ही दूसरे देशों के अधिकार क्षेत्र के हिसाब से बांटना चाहिए। नॉन-रुटीन प्रॉफिट इंटलेक्चुअल प्रॉपर्टी से होने वाला प्रॉफिट है। अमेरिकी प्रस्ताव विकासशील देशों के लिए काफी पेचीदी है। भारत का प्रस्ताव काफी सरल है। इस प्रस्ताव पर कई देश अमल करना चाहेंगे।